Safed Musli ke fayde | सफ़ेद मूसली के फायदे, नुकसान और प्रयोग के तरीके

सफ़ेद मूसली का परिचय

Safed Musli का वैज्ञानिक नाम Chlorophytum Borivilianum है। और ये लिलिएसी का पौधा है। इसकी उपयोगी भाग जड़ और बीज होते है। और ये केवल India में ही मिलती है। और इसका उपयोग एक Potent Medicine  के रूप में होता है।

भाषासफेद मूसली के नाम
हिंदी
श्वेत मूसली
संस्कृत
बल्यकंदा, धवलमूली
मराठी
कुलई
मलयालम सहेदेवेली
तेलगु
श्र्वेत मूसली
इंग्लिश
इंडियन स्पाईडरी प्लांट
अरबिक
शुकाकुले हिंदी
पर्शियन
शुकाकुल
तमिलतनीरवीथंग
गुजराती
सफेद मूसली
उर्दू
मूसली सफेद
कन्नड़
श्र्वेत मूसली

Safed Musli का उपयोग बहुत सी बीमारियों के इलाज के लिए होता है। लेकिन खाशकर इसका उपयोग सेक्स से संबंधित प्रॉब्लम के इलाज के लिए होता है। क्योकि ये एक शक्तिवर्धक आयुर्वेदिक पौधा है। आयुर्वेद में इसका उपयोग खासकर घने जंगलो में मिलती है। जहा बारिस अच्छी हुई हो वहा ये पौधा आपको मिल जायेगा। आयुर्वेद में सतावर, सफ़ेद मूसली, Gokhru, कौंच के बीज,हरड़ और अन्य ओषधिए पौधो का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर होता है।

सफ़ेद मूसली का प्रयोग जड़ , पत्ती, और Powder के रूप में होता है। Safed Musli को हबर्ल वियाग्रा के नाम से भी जाना जाता है। और यौन समस्याओ में ये बहुत ही प्रभावशाली होती है। लेकिन इसके फायदे होने के साथ कुछ नुकसान भी होते है। जो आप इस पोस्ट में पढ़ेंगे। आजकल Patanjali के Baba Ramdev भी इसके बारे में बताते है और उनकी कंपनी इसके प्रोडक्ट भी बेचती है।

सफ़ेद मूसली के घटक (Safed Musli Nutrition)

Safed Musli में पाए जाने वाले सभी पोषक तत्व बहुत ही अधिक महत्वपूर्ण होते है। इसमें आपको सभी प्रकार के Vitamins, Carbohydrates, Saponins, Potassium, Calcium, Magnesium, Resins, Steroids, and Phenols मिलते है और ये सभी तत्व Body की सभी कमियों को दूर करके ऊर्जा का संचार करते है। Body Weakness को दूर करते है। और यौन सम्बंधित समस्याओ को जड़ से खत्म करते है।

सफ़ेद मूसली के घटकमात्रा
एक्लॉइड15-25%
सेपोनिन्स 2-6 %
प्रोटीन5-10%
कार्बोहाइड्रेट35-45%
फाइबर25-35%

सफ़ेद मूसली के औषधीय गुण (Safed Musli ke Aushadheey gun )

Safed Musli के कौन से हिस्से काम के होते है ये जान लीजिये पहले। Safed Musli की जड़े और बीज को दवाई के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका Powder  बनाकर इसका उपयोग होता है। ज्यादातर सफ़ेद मूसली का प्रयोग यौन समस्याओ के लिए होता है। लेकिन इसका प्रयोग अन्य रोगो में जैसे Cancer, Diabetes, Physical Weakness आदि के लिए भी होता है।

सफ़ेद मूसली एक एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों वाली ओषधि है। जो Physical Energy को बढाती है और Body  के Testosterone नामक हार्मोन को बढाती है जो हमारी यौन गतिविधियों को कण्ट्रोल करता है। पुरुष बल के लिए Safed Musli एक वरदान के रूप में होती है और ये बहुत ही Effective तरीके से ताकत को बढाती है।

सफेद मूसली के फायदे

  • सफ़ेद मूसली एक Powerfull आयुर्वेदिक ओषधि है जिसका प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए होता है।

Cancer

  • Cancer की संभावना को कम करने के लिए भी Safed Musli का उपयोग होता है। और ये Cancer  के खतरे को काफी हद तक खत्म क्र देती है। इसके लिए रोजाना एक चम्मच Safed Musli Powder को दिन में दोनों टाइम सुबह और शाम पानी के साथ ले सकते है।

Sterility

  • सफ़ेद मूसली एक उत्तेजक के रूप में भी कार्य करती है। जिन लोगो को संतान सुख नहीं है उनके लिए ये लाभदायक साबित होती है। इसके प्रयोग से Hormone Imbalance की समस्या खत्म हो जाती है। और बाँझपन(Sterility) की समस्या से छुटकारा मिलता है।

Immunity System

  • एक सवसथ और अच्छे शरीर की निशानी होती है उसका Immunity System सही से काम करे और शक्तिशाली हो। जिनका Immunity System कमजोर होता है उनको बहुत से रोग घेर लेते है। इसलिए Safed Musli का प्रयोग प्रतरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी होता है।

Leucorrhoea

  • बहुत सी महिलाओ को Leucorrhoea की समस्या होती है जो की शरीर को कमजोर कर देता है। और Infection होने का खतरा भी होता है। इसके लिए Safed Musli एक रामबाण की तरह होती है जो इस रोग को जड़ से खत्म कर देती है।

Weight Gaining

  • Weight Gaining  एक गंभीर समस्या के रूप में है जो की बहुत से रोगो को जन्म देता है। मोटापा एक गंभीर समस्या है जो Diabetes जैसी बीमारियों को जन्म देती है। लेकिन सफ़ेद मूसली के उपयोग से आप वजन को कम कर सकते है। और साथ ही ये आपके शरीर में जो Extra fats है उसको बहुत आसानी से निकलने में मदद करती है।

Diabetes

  • Diabetes एक गंभीर बीमारी है इसमें इंसान के शरीर में शुगर को कण्ट्रोल करने वाले Hormones बनने कम हो जाते है। और शरीर की Immunity क्षमता भी कमजोर पड़ जाती है जिससे और बीमारिया आसानी से शरीर पर हमला कर देती है भारत में बहुत से लोगो को ये समस्या होती है और इसका इलाज भी बहुत महंगा होता है। Safed Musli में उपस्तिथ Antioxidant तत्व आपके शरीर में Insulin के निर्माण को नियमित करने में मददगार होते है। और आपके शरीर में शुगर नियंत्रित रहता है।

Pregnancy

  • महिलाओ में Pregnancy के Time अगर सही से खानपान का ध्यान नहीं रखा जाये तो होने वाले बच्चे के विकास पर सीधा असर होता है। क्योकि Nutrients शिशु को पुरे नहीं मिल पाते है। और वो कुपोषित भी हो सकता है। इसके लिए डॉक्टर की सलाह से Safed Musli का प्रयोग लाभदायक होता है। क्योकि सफ़ेद मूसली शरीर के सभी जरुरी तत्व को पूरा करती है।

शीघ्रपतन

  • शीघ्रपतन (Premature Ejaculation )की समस्या आजकल आम हो गई है और इसका कारन है आजकल की जीवनशैली। इसमें खान पान का सीधा असर होता है। जो की आजकल ख़राब होता जा रहा है। Nutrients की कमी , और काम की अधिकता की वजह से शरीर की धातुएं कमजोर हो जाती है और इसका सीधा असर हमारे यौन Harmones पर पड़ता है। इसलिए सफ़ेद मूसली का प्रयोग करके इससे छुटकारा पाया जा सकता है। सफ़ेद मूसली में शक्ति वर्धक सभी तत्व होते है जो आपके शरीर की कमियों को दूर करते है। और बहुत से Doctor यौन रोगो में इसके इस्तेमाल की सलाह देते है।

Safed Musli Benefits

  • सफ़ेद मूसली Sperm की संख्या में इजाफा करता है जिससे नपुंसकता (Impotence)की समस्या खत्म हो जाती है।
  • शिशु के जन्म के बाद माता के शरीर में कई बार दूध की समस्या आ जाती है और दूध का बनना कम हो जाता है या बनता ही नहीं है। इसके लिए Safed Musli का सेवन करना लाभदायक होता है। जो की शरीर के सभी पोषक तत्वों (Nutrients) की पूर्ति करके दुग्ध के उत्पादन को बड़ा देती है।
  • शरीर में कही पर भी सूजन(Swelling) आ रही है तो आप Safed Musli का इस्तेमाल कर सकते है। सफ़ेद मूसली में एंटी इंफ्लेमेंटरी तत्व होते है जो की Swelling को कम कर देती है।
  • Stress आज के समय में जीवन में एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है और इसका सीधा असर हमारे शरीर की कार्यप्रणाली पर होता है। और बहुत से रोग शरीर को घेर लेते है। और सफ़ेद मूसली मानसिक तनाव (Mental Stress)को कम करती है और शरीर की सभी कमियों को दूर करती है।

सफेद मूसली के लाभ

  • दस्त की समस्या में Safed Musli काफी फायदे मंद हो सकती है।
  • सफ़ेद मूसली में पाया जाने वाला सैपोनिन नामक तत्व आर्थराइटिस(Arthritis) की बीमारी को कम करने का काम करता है। जो की इससे होने वाली समस्या जैसे गठिया, जोड़ो का दर्द (Joint pain)से छुटकारा दिलाता है।
  • रोजमर्रा की जिंदगी में थकान और शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए आप Safed Musli को रोजाना पानी के साथ ले सकते है। ये शरीर में सभी पोषक तत्वों की कमी को पूरा करके ऊर्जा का संचार करती है।
  • यौन सम्बन्धो में होने वाली एक गंभीर बीमारी सुजाक के इलाज के लिए सफ़ेद मूसली काफी कारगर होती है। सुजाक एक गंभीर बीमारी होती है और इसका इलाज नहीं होने पर ये समस्या धीरे धीरे नपुसंकता की और ले जाती है।
  • अगर आपको पेशाब से सम्बंधित समस्या है तो आप सफ़ेद मूसली का उपयोग कर सकते है। इससे पेशाब में जलन होना, पेशाब रुक रुक कर आना , पेशाब नाली में इन्फेक्शन जैसी प्रॉब्लम दूर होती है।

बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय

सफेद मूसली के सेवन का तरीका (Safed Musli Khane ka Tarika)

किसी भी प्रकार की आयुर्वेदिक दवाई हो या किसी भी प्रकार की दवाई हो आपको अगर उसके इस्तेमाल के बारे में नहीं पता तो आपको उसका प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योकि इसके फायदे होने के साथ इनके नुकसान भी होते है। तो चलिए जानते है की Safed Musli को किस प्रकार प्रयोग कर सकते है और कितनी मात्रा में प्रयोग करना चाहिए।

How Use Safed Musli

  • सफ़ेद मूसली बाजार में कैप्सूल, पॉउडर, जड़, और बीज के रूप में मिलती है। कैप्सूल का प्रयोग आप अपनी समस्या के हिसाब से डॉक्टर की सलाह से कीजिये।
  • महिलाओ को Safed Musli गर्भावस्था में दौरान किसी प्रकार की मिठाई में मिलाकर प्रयोग कर सकती है। लेकिन इसके लिए पहले आपको Doctor से सलाह लेनी जरुरी होती है।
  • Powder को आप सुबह शाम के समय एक छोटा चम्मच Water  के साथ भी इस्तेमाल कर सकते है लेकिन अगर कोई Problems है तो डॉक्टर की सलाह के बिना इसका इस्तेमाल न करे।
  • सफ़ेद मूसली की जड़ो को आप दूध में मिलकर भी इस्तेमाल कर सकते है। और इसका काढ़ा बनाकर भी प्रयोग कर सकते है। यौन समस्या में इसका इस्तेमाल दूध और अन्य जड़ी बूटियों के साथ किया जाता है।

ConditionDose
गर्भावस्थाएक से दो ग्राम
प्रजनन के बादशिशु के जन्म के बाद महिला अगर इसका सेवन करना चाहे तो उनको सिर्फ एक से दो ग्राम की मात्रा में ही इसका सेवन करे। (पूरे दिन में 12 ग्राम से अधिक ना हो | एक बार में 12 ग्राम सफेद मूसली का सेवन ना करें)
बच्चे अधिक से अधिक 50 मिलीग्राम | न्यूनतम 25 मिलीग्राम
13 से 19 सालडेढ़ से दो ग्राम
19 साल से 603 से 6 ग्राम
60 से ऊपर2 ग्राम
सफेद मूसली चूर्ण1-2 ग्राम दिन में दो बार
सफेद मूसली कैप्सूल1-2 कैप्सूल दिन में दो बार
मूसली पाकआधा चम्मच दिन में दो बार

सर्दी-खांसी और जुकाम (Cough and Cold) से हैं परेशान, अपनाएं ये 15 घरेलू नुस्खे

सावधानिया

सफ़ेद मूसली के जितने फायदे है उतने नुकसान भी है और इन सब से बचने के लिए आपको कुछ सावधानिया बरतने की जरुरत है।

  • Safed Musli का सेवन करने से पहले आपको पता होना चाहिए की आपको इसकी मात्रा कितनी लेनी है
  • और अगर नहीं पता तो पहले किसी डॉक्टर या वैध से सलाह जरूर कर ले।
  • सफ़ेद मूसली का प्रयोग हर बीमारी के हिसाब से अलग अलग जड़ी बूटी को मिलाकर किया जाता है
  • इसका ध्यान रखे की कितनी मात्रा किस जड़ी बूटी की मिलनी है
  • और अगर कोई साइड इफ़ेक्ट होता है तो तुरंत इसका प्रयोग बंद कर दे।
  • Safed Musli के सेवन से पहले ये पता होना जरुरी है की आपकी उम्र कितनी है
  • और कितनी मात्रा में इसका सेवन किया जा सकता है।

नुकसान (Safed Musli side effects)

सफ़ेद मूसली एक शक्तिवर्द्धक जड़ी बूटी है

जिसका प्रयोग बहुत सी बीमारियों के इलाज में होता है। इसके फायदे होने के साथ साथ बहुत से Side Effects भी है जो सही तरीके से इसका सेवन नहीं करने से होते है।

भूख न लगना:

Safed Musli के सेवन से शरीर में सभी पोषक तत्वों (Nutrients)की पूर्ति होती रहती है।

और इसका असर सीधा हमारे पाचन तंत्र पर पड़ता है। और हमें भूख कम लगती है।

इसका जयादा सेवन करने से ये समस्या बढ़ सकती है

इसलिए किसी Doctor की सलाह से इसका सेवन करे

अगर ऐसी कोई Problem हो गई है तो किसी Ayurvedic Doctor से संपर्क जरूर करे।

8 घंटे नींद नही ली तो क्या होगा जानते हो

 कफ की समस्या:

Safed Musli एक ठंडी तासीर वाली जड़ी बूटी है। अगर आपको दमे की प्रॉब्लम है या फिर कफ की समयसा पहले से है

तो आपको Safed Musli का सेवन नहीं करना चाहिए । क्योकि ठंडी तासीर वाली ये जड़ी बुटिया कफ को बढाती है। इसके लिए आप किसी Expert Doctor और वैध से मिल कर सलाह जरूर करे।

मधुमेह की समस्या:

आपको मधुमेह (Diabetes) में लो शुगर की समस्या है

तो आपको Safed Musli का सेवन नहीं करना चाहिए।

क्योकि सफ़ेद मूसली शुगर की मात्रा को कम करती है।

फैटी लीवर का ईलाज | फैटी लीवर के लक्षण क्या हैं

पेट से सम्बंधित समस्या:

Safed Musli पेट में पचने में काफी समय लगाती है

और इसी वजह से भूख भी कम लगती है।

इससे आपको कब्ज और खुजली (Itching) जैसी समस्या हो सकती है।

सफ़ेद मूसली कहा से ख़रीदे

  • Safed Musli पॉउडर और कैप्सूल के रूप में मिलती है
  • आप इसको मार्किट में से खरीद सकते है।
  • हर्बल कंपनी (Herbal Company)की सफ़ेद मूसली प्रोडक्ट कोई आप खरीद सकते है
  • जो की एक Trusted Brand है।
  • डाबर कंपनी भी सफ़ेद मूसली के Capsules and Powders को पैकिंग के रूप में बेचती है
  • आप वह से भी खरीद सकते है।
  • पंतजलि (Patanjali)के प्रोडक्ट भी आते है।
  • उनके प्रोडक्ट भी आप इस्तेमाल कर सकते है।
  • इसके आलावा आप पंसारी की दुकान से भी सफ़ेद मूसली की जड़ और बीज खरीद सकते है।
  • जिनका आपको Powder बनाना पड़ेगा।

गिलोय के फायदे, नुकसान

FAQ’s

Q – : सफ़ेद मूसली का Sceienetfic नाम क्या है?

Ans – : Chlorophytum borivilianum

Q – : सफ़ेद मूसली की तासीर कैसी है?

Ans – : Safed Musli की तासीर ठंडी होती है

और ये कफ को बढ़ा देती है।

Q – : सफ़ेद मूसली कहा इस्तेमाल होती है ?

Ans – : Safed Musli का इस्तेमाल बहुत से रोगो के इलाज के लिए होता है

और इसका प्रयोग यौन रोगो में जयादातर होता है।

Q – : सफ़ेद मूसली कहा पाई जाती है ?

Ans – : भारत में जहा वर्षा अधिक होती है

आजकल इसकी खेती भी होती है।

Q – : सफेद मूसली क्या भाव मिलती है?

Ans – : Safed Musli हजार रूपये से लेकर पंद्रह सौ रूपये किलोग्राम के भाव से मिलती है।

और इसकी खेती बहुत ही फायदेमंद होती है।

Q – : सफ़ेद मूसली के फायदे क्या है ?

Ans – : Safed Musli एक शक्तिवर्द्धक जड़ी बूटी है।

इसका इस्तेमाल यौन विकार ,

नपुंसकता,

और शारीरक कमजोरी,

Cancer,

जोड़ो के दर्द  Joint Pain और अन्य बीमारियों के इलाज के लिए होता है।

Q – : सफ़ेद मूसली का कौन सा भाग इस्तेमाल किया जाता है?

Ans – : सफ़ेद मूसली का जड़ का हिस्सा और बीज कोई Powder और कैप्सूल (Capsules)के रूप में प्रयोग किया जाता है।

Q – : अश्वगंधा सफेद मूसली कैसे खाएं?

Ans – :  सफेद मूसली और अश्वगंधा (Ashwagandha) के बीजों को बराबर मात्रा में मिश्री के साथ मिलाकर बारीक चूर्ण बनाकर एक चम्मच चूर्ण सुबह और शाम एक कप दूध के साथ

Q – : सफेद मूसली को कैसे पहचाने?

Ans – : पत्तियाँ मौलिक चक्राकार, चपटी, रेखीय, अण्डाकार और नुकीले शीर्ष वाली होती है। पत्तियों की निचली सतह खुरदुरी होती है।

Q – : 100 ग्राम सफेद मूसली की कीमत क्या है?

Ans – : 100 ग्राम सफ़ेद मूसली की कीमत करीब 100 रूपये से 130 रूपये है।

Q – : सफेद मूसली कितने प्रकार की होती है?

Ans – : मूसली दो प्रकार की होती है एक Safed Musli होती है । एक काली मूसली होती है।

दोनों का इस्तेमाल अलग अलग तरीके से होता है।

Q – : सफेद मूसली का सेवन कितने दिन तक करना चाहिए?

Ans – : Safed Musli का सेवन रोग के हिसाब से और उम्र के हिसाब से करना चाहिए।

अगर आप नार्मल इसका इस्तेमाल करते है तो एक सप्ताह में ये असर दिखाना शुरू कर देती है।

Q – : Safed Musli कब बोई जाती है?

Ans – : सफ़ेद मूसली की खेती मानसून के समय फरवरी मार्च के महीने में बोई जाती है।

क्योकि इस समय का तापमान (Temperature)और पानी (Water Level )और वातावरण (Climate) इसके लिए उपयुक्त होता है।

Q – : सफेद मूसली को दूध में पीने से क्या होता है?

Ans – : सफ़ेद मूसली को दूध के साथ सेवन करने से शुक्राणु(Sperm) की संख्या में इजाफा होता है।

और यौन शक्ति बढ़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.