गोखरू के लाभ, नुकसान, विधि । Gokhru ke Fayde | Gokhru uses

Ayurveda में बहुत सी जड़ी बूटियों की जानकारी दी गई है। और उनका प्रयोग कैसे करना है। और किन किन रोगो के लिए इसका इस्तेमाल होता है ये सब जानकारिया Ayurveda में प्राचीनकाल से ही मौजूद है। इनमे Giloy, Ashavgandha , Shatavari, Gokhru, अजवायन और अन्य जड़ी बुटिया शामिल है।

ये जड़ी बूटी शरीर में होने वाले बहुत से रोगो के इलाज के लिए काफी कारगर सिद्ध होती है जिनमे Cold,खांसी,जुकाम, Cancer, शारीरिक कमजोरी, Heart रोग जैसी और भी रोग शामिल है। आज हम बात करेंगे की गोखरू के क्या फायदे होते है। Gokhru जड़ी बूटी कहा मिलती है। गोखरू का इस्तेमाल कहा होता है आदि पर

Gokhru एक प्राकृतिक रूप से मिलने वाला ओषधिए पौधा है। जिसके सभी भाग Medicine के रूप में काम में आते है। इसका उपयोग शरीर के विभिन्न रोगो के Treatment के लिए होता है। इसके इस्तेमाल से पित्त कफ की बीमारी में आराम मिलता है। और यौन सम्बंधित समस्याओ में इसका इस्तेमाल होता है।

गोखरू का परिचय (Gokhru)

Gokhru India के पहाड़ी एरिया में मिलने वाली वनस्पति है। ये जयादातर पथरीली जमीं में उगता है। इसका वैज्ञानिक नाम ज़ाइगोफाइलिई (Zygophylleae) है। इसको Hindi में छोटा Gokhru और Sanskrit भाषा में गोक्षुर भी कहा जाता है। इसके फल चने के आकार के होते है और इसका पौधा छोटा और जमीं पर फैलता है।

इसके फल पर छोटे छोटे कांटे होते है। इसके फल को और इसके मूल को Ayurvedik Medicine के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका इस्तेमाल जायदातर यौन सम्बंधित समस्याओ के लिए होता है। Gokhru का पौधा जयादातर वर्षा ऋतू में फलता फूलता है। इसके भूरे रंग के फूल आते है और दिसम्बर के महीने तक इनमे फूल आ जाते है।

Gokhru  के पौधे की तासीर ठंडी होती है और इसका उपयोग वात के रोगो में भी होता है। अगर आपको Urin से सम्बंधित रोग है या मूत्र कम मात्रा में आता है तो आपको इसका सेवन करना चाहिए। ये आपको शीघ्र आराम देगा।

भाषागोखरू के नाम
Sanskritगोक्षुरक, त्रिकण्ट, स्वादुकण्टक,श्वदंष्ट्रा, इक्षुगन्धिका, चणद्रुम,गोकण्टक, गोक्षुरक,वन शृङ्गाट, पलङकषा
Hindiखरू, छोटा गोखरू, हाथीचिकार
Kannadaनेग्गिलुमुल्लु (Negillumullu), नेरूंजी (Nerunji)
Oriyaगाखुरा (Gokhura), गोक्षरा (Gokshra)
Gujratiबेटागोखरू,(Betagokharu), नहानगोखरू (Nahanagokharu)
Urduगोखरू (Gokharu)
Bengaliगोखरू (Gokharu), गोखुरी (Gokhuri)
Teluguपाल्लैरु (Palleru), चिरूपाल्लैरू (Chirupalleru), चिरूपल्लेख (Cherupallekh)
Marathiशराट्टे (Sharatte), काटे गोखरू (Kate gokharu), लहानगोखरू (Lahangokharu), सरला ज्ञरोत्ते (Sarla gyarote)
Punjabiबखरा (Bakhra), लोटक (Lotak), भखर (Bhakhar)
Tamilनेरिंजिल (Nerinjil), नेरींजीकाई (Nerinjeekai)
Malayalamनेरिंजिल (Neringil)
Arbiबास्तीताज (Bastitaj), खसक (Khasak), मसक (Masak)
Englishडेविल्स् थोर्न (Devil’s thorn), गोट हैड (Goat head), पंक्चर वाईन (Puncture vine), स्मॉल कैल्ट्रॉप्स (Small caltrops)
Persianखारेखसक (Khare khasak)

 

सफ़ेद मूसली के फायदे, नुकसान और प्रयोग के तरीके

 

गोखरू के लाभ और उसका प्रयोग (Gokhru Benefits in Hindi )

क्या फायदे है और इसका इस्तेमाल किन किन Problems में होता है। इसके बारे में जान लीजिये। ये जानकारी और विस्तार से दी गई है। और कौन कौन सी सावधानिया आपको बरतनी चाहिए इसकी भी जानकारी आपको इसमें मिलेगी।

Gokhru के फल में Urin Infection को दूर करने के गुण होते है। और ये यौन उपचार में भी काम आता है ये एक शक्तिशाली जड़ी बूटी है। इसका इस्तेमाल Animia , अस्थमा, खांसी, Fiver और इंटरनल सूजन के इलाज के लिए होता है।

मूत्र रोग में Gokhru के फायदे (Gokhru Benefits and Uses  in Erectile Dysfunction )

गोखरू मूत्र मार्ग में होने वाले संक्रमण को खत्म करता है और इसकी तासीर ठंडी होती है तो ये पेट में होने वाली गर्मी को भी खत्म करता है। जिससे मूत्र में होने वाली जलन और दर्द खत्म हो जाता है। गोखरू Kidney की Stone को खत्म करने का काम करता है और मूत्राशय में होने वाली Stone को भी खत्म करता है। गोखरू Men हार्मोन उत्सर्जित करने वाली ग्रंथि को सवास्थय रखता है। और Sexual Problems से छुटकारा मिलता है। अगर Urin रुक रुक कर आता है या बहुत कम मात्रा में आता है तो इसका प्रयोग जरूर करना चाहिए। ये मूत्र के प्रवाह को बढ़ता है।

नपुंसकता, बाँझपन, और यौन समस्या में Gokhru के फायदे (Gokhru Benefits For Infertility and Sexual Disorders)

  • Gokhru एक Powerfull जड़ी है और ये कामेक्षा को बढाती है। और इसकी तासीर ठंडी होती है।
  • इसके इस्तेमाल से मानव की प्रजनन क्षमता बढ़ती है।
  • महिलाओ को अगर शिशु जन्म के बाद दुग्ध में कमी आती है
  • तो Gokhru के सेवन से इसको बढ़ाया जा सकता है।
  • गोखरू शरीर की क्षमता को बढ़ाता है और Energy देता है। जीवन शक्ति को बढ़ा देता है।

Gokhru का सेवन करने से शरीर में यौन Harmons का संतुलन बना रहता है। और शरीर की कामशक्ति बढ़ती। और मनुष्य की धातु को भी गाढ़ा करके उसकी गुणवत्ता में सुधार लाता है। और इससे होने वाली बीमारिया जैसे नपुंसकता , बाँझपन, दूर होते है। इसके आलावा गर्भाशय में होने वाले विकार भी दूर होते है। और आप एक Healthy Life जी सकते है। और आपकी Sexual Life भी बहुत अच्छी हो जाती है।

 

गिलोय के फायदे, नुकसान, Giloy का सेवन, किन किन रोगो में लाभदायक है

 

गर्मी बढ़ने पर Gokhru का उपयोग

अगर आपके शरीर में गर्मी बढ़ने की समस्या है और Urin में जलन होती है या फिर आपको blood bile की समस्या है

तो आपको Gokhru का इस्तेमाल करना चाहिए इससे इस समस्या में आराम मिलेगा और Body की गर्मी भी खत्म हो जाएगी।

गोखरू की तासीर शीतल होती है जिससे शरीर की गर्मी को खत्म करने में मदद मिलती है।

इसके लिए आप दस ग्राम Gokhru को ढाई सौ ग्राम Milk में उबालकर इसका सेवन कर सकते है। इससे आपको जरूर Benefits  होगा।

 

फैटी लीवर का ईलाज | फैटी लीवर के लक्षण क्या हैं

 

शुक्राणु की कमी को दूर करे Gokhru

गलत खान पान और बढ़ती उम्र के साथ आपके धातु कमजोर हो जाते है। कई बार व्यत्कि के धातु में शुक्राणुओं की कमी हो जाती है जिससे उसको पिता बनने में समस्या हो जाती है। इसके लिए आप गोखरू का सेवन क्र सकते है। Gokhru , Shatavari, अश्वगंधा,

ये सब जड़ी बुटिया Body में धातु की पौष्टिक करती है और Sperm count को बढाती है। इसके लिए आप Gokhru को बिस ग्राम और दूध ढाई सौ ग्राम लेकर उबाल ले और इसका शुबह शाम प्रयोग करे। इससे Blood की कमी दूर होती है और शरीर में ताकत आती है। गोखरू और Satavar  को भी इस्तेमाल कर सकते है। दस ग्राम सतावर और दस ग्राम Gokhru को ढाई सौ ग्राम दूध में उबालकर इसका इस्तेमाल सुबह शाम करे इससे स्पर्म काउंट बढ़ता है और शरीर में चमक आ जाती है। stemina बढ़ती है। धातु मजबूत होती है ।

बुखार होने पर गोखरू का प्रयोग

हर बार जब वातावरण में बदलाव होता है तो शरीर उसके अनुसार तुरंत Adjust नहीं हो पाता

और Fiver, Cuf , Cold जैसे समस्या हो जाती है। इसके लिए आप Gokhru को प्रयोग कर सकते है।

इसमें आप पंद्रह ग्राम गोखरू को पानी में उबाल कर इसका काढ़ा बना कर इस्तेमाल कर सकते है। इससे Fiver की Problem में बहुत फायदा मिलेगा।

 

मोटापा कम करने (वजन घटाने) के असरदार घरेलू उपाय

 

बाई की समस्या या आमवात में Gokhru का प्रयोग

धीरे धीरे शरीर जब बुढ़ापे के और बढ़ता है तो शरीर में Calcium की मात्रा कम होने लगती है और Acid की मात्रा बढ़ने लगती है।

इससे आपके घुटनो में दर्द होने लगता है या शरीर में चीस मारने लगती है।

शरीर उम्र के साथ घटने लगता है तो सभी Part सही से काम नहीं करते।

इससे भी ये Problems हो सकती है। इसके लिए आपको Gokhru , Sonth का काढ़ा बनाकर उसका इस्तेमाल करना चाहिए

इससे Joint pain और बाई की समस्या में लाभ मिलता है।

पथरी के इलाज में गोखरू का प्रयोग

Kidney stone खासतौर पर तब होती है जब हम कम मात्रा में पानी पीते या फिर ऐसी पदार्थ खाते है ।

जिनमे Calcium oxalate की मात्रा अधिक होती है जो की Body में पथरी का मुख्य कारन होता है।

इसके लिए आपको Gokhru पांच ग्राम चूरन को जो आप किसी भी Company का ले सकते है

या Gokhru Patanjali Powder भी अच्छा होता है को लेकर Honey के साथ प्रयोग करने से लाभ मिलेगा ।

पाचन तंत्र के लिए गोखरू का प्रयोग

जिन लोगो को पेट की समस्या रहती है। पेट सही से साफ नहीं होता। कब्ज रहती है । गैस बनती है। उन लोगो को पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए, क्योकि कम पानी पिने से ये सभी समस्या होती है। इसके अलावा आप Gokhru और पीपल के चूर्ण का काढ़ा बनाकर उसका सेवन कर सकते है। इसके लिए आपको पच्चास ग्राम Gokhru का रस और पांच ग्राम पीपल का चूर्ण लेना है । इसको थोड़ा थोड़ा मिलकर पिए इससे आपकी digestive system से सम्बंधित सभी समस्या खत्म हो जाएँगी।

 

मुँह के छाले ठीक करने के घरेलु उपाय

 

Spottspersons के लिए गोखरू का उपयोग

Gokhru एक Ayurvedik जड़ी बूटी है।

इसमें Body Performance को बढ़ाने के गुण होते है।

जो लोग Physical Exercise करते है उनको इसका सेवन करना चाहिए।

Gokhru शरीर को सवसथय रखने के साथ साथ ह्रदय को भी सुरक्षित रखता है।

एक्जिमा के लिए गोखरू के फायदे

एक्जिमा(Dermatitis) एक त्वचा से सम्बंधित बीमारी है। इसमें रोगी को त्वचा पर खुजली होने लगती है

घाव हो जाते है। गोखरू में Anti inflammatory तत्व होते है।

जो की शरीर को Dermatitis के खतरे से बचाता है।

इसका लेप करने से घाव भरने में मदद मिलती है।

 

8 घंटे नींद नही ली तो क्या होगा जानते हो? 

 

इनफर्टिलिटी में गोखरू का प्रयोग

Infertility में महिलये गर्भ धारण (conceive)करने में असक्षम होती है।

महिला में पाए जाने वाले हार्मोन कमजोर हो जाते है।

इसके लिए गोखरू को बहुत ही असरकारी माना जाता है।

Gokhru शरीर में hormones के स्तर को बढ़ता है।

और Reproduction क्षमता को सुधारता ह।

मूत्र संक्रमण में गोखरू का प्रयोग

Gokhru में Infection को खत्म करने की क्षमता होती है। इसमें मौजूद Tannic acid  और डिओसाजेनिन और केर्सटिन तत्व Infection को खत्म करते है। इसलिए आप गोखरू का प्रयोग इसके लिए कर सकते है। इससे आपकी Kidney में होने वाले Infection और Kidney stone की समस्या से भी सुरक्षा मिलती है।

गोखरू का इस्तेमाल कैसे करे

  • गोखरू का पेड़ आपको पथरीली जमीं पर मिल सकता है
  • और आप इसका उपयोग इसके फल और इसकी पत्ते , टहनी के रूप में कर सकते है।
  • Gokhru का पॉउडर भी मार्किट में मिलता है
  • जिसका प्रयोग आप पानी के साथ उबाल कर भी कर सकते है।
  • गोखरू का इस्तेमाल अर्क के रूप में भी किया जा सकता है
  • जिसमे Skin Problems  के लिए होता
  • इसका प्रयोग आप लड्डू बनाकर भी कर सकते है।
  • इसको आप काढ़े के रूप में भी पि सकते है

गोखरू का सेवन कब करे और कितनी मात्रा में करे

  • Gokhru एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। इसको आप सुबह और शाम के समय प्रयोग कर सकते है। लेकिन किसी वैद या डॉक्टर की सलाह के बिना इसका प्रयोग न करे।

 

बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय

 

गोखरू के नुकसान

  • देशी जड़ी बूटी के बहुत कम Side Effects होते है। और ये तभी होते है
  • जब आप इसकी अधिक मात्रा में सेवन कर लेते है या इसके परहेज नहीं करते है।
  • ज्यादा मात्रा में और कुछ खास परिसिथतियों में ये Hepto doxity का कारन भी बन सकता है। इसमें Liver पर असर पड़ता है या Damage हो सकता है।
  • इसका ज्यादा सेवन करने से आपके Male hormones की मात्रा बढ़ जाती है
  • और इससे आपके Heart को खतरा होने की संभावना होती है।
  • अगर महिलाये इसको अधिक मात्रा में सेवन कर लेती है तो उनकी कमेशा में कमी आ जाती है।
  • अगर आपको नहीं पता की इसका सेवन कैसे करना है तो ये आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है
  • और ये Nervous System  को क्षति पंहुचा सकता है।

 

सर्दी-खांसी और जुकाम (Cough and Cold) से हैं परेशान, अपनाएं ये 15 घरेलू नुस्खे

 

नोट-: गोखरू एक आयुर्वेदिक ओषदि है

और इसका प्रयोग करने से पहले आप किसी डॉक्टर

और वैद से संपर्क जरूर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.