हल्दी दूध के फायदे और नुकसान

हल्दी वाला दूध पीने के कई फायदे और नुकसान है। जिसके बारे में आज आप इस पोस्ट में पढ़ने वाले है। पुराने टाइम में जब भी कोई शारीरिक समस्या होती थी तो लोग घरेलु नुस्खों से अपना इलाज करते थे। जो आपकी रसोई में मिल जाते है। और इनकी कीमत भी काफी कम होती है। हमारी रसोई में मिलने वाले मशालों से काफी रोगो का इलाज संभव है। शरीर में कही पर चोट लगने पर लोग हमेशा से ही हल्दी वाला दूध पीने की सलाह देते है। क्योकि हल्दी में एंटी बायोटिक गुण होते है। जो शरीर में हुए किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन को खत्म करते है और घाव को भरने में मदद करते है। निचे हम हल्दी और दूध से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में जानने वाले है।

5 हेल्थ टिप्स जो आपको हमेशा स्वस्थ रखेंगी

हल्दी वाला दूध सेहत के लिए फायदेमंद क्यों है?

हल्दी में मौजूद एंटी बायोटिक गुण और दूध में मिलने वाले कैल्सियम की वजह से शरीर में काफी फायदा मिलता है। शरीर में चोट लगने पर कैल्सियम उस चोट को तुरंत सही करने में मदद करता है साथ में ही हल्दी एंटी बायोटिक का काम करती है। हल्दी में करक्यूमिन (Curcumin) कंपाउंड यानी पॉलीफेनोल भी होता है, जो शरीर को कई रोगों से बचाने में मदद कर सकता है

पाचन तंत्र में फायदे

पाचन तंत्र को सही और दुरुस्त रखने के लिए दूध पीना अच्छा होता है। और हल्दी मिलकर पिने से आंत में होने वाली बीमारियों से छुटकारा मिलता है। हल्दी में करक्यूमिन होता है जो पेट से सम्बंधित बीमारियों में लाभदायक होता है।

जोड़ो के दर्द में हल्दी दूध का उपयोग

हल्दी में मौजूद करक्यूमिन तत्व जोड़ो के दर्द में राहत देता है। साथ ही हल्दी में एंटी अर्थराइटिस गुण होते है जो जोड़ो की सूजन को कम करने का काम करते है।
हल्दी में मौजूद लैक्टोफेरिन प्रोटीन एंटी-इंफ्लामेटरी और दर्द कम करने वाला एंटीनोसाइसेप्टिव जोड़ो में दर्द की समस्या को कम करता है। इसकी वजह से जोड़ो के दर्द में हल्दी और दूध के सेवन की सलाह दी जाती है।

कैंसर

कैंसर एक गंभीर बीमारी है। और इसका कोई परमानेंट इलाज नहीं है। लेकिन आयुर्वेद की मदद से इसको काफी हद तक रोका जा सकता है। पेट या अन्य तरह के कैंसर में हल्दी काफी हद तक रोक लगा देती है। कैंसर को बढ़ने से रोकती है। साथ में ही इससे कैंसर का जोखिम कम होता है। लेकिन कैंसर के लिए के लिए आपको डॉक्टर के पास जाना जरुरी है। क्योकि हल्दी सिर्फ इसके प्रभाव को कम कर सकती है इसका इलाज नहीं करती है।

हड्डी स्वास्थ्य

दूध में कैल्सियम की मात्रा काफी होती है। जो हड्डियों के लिए काफी लाभदायक होती होती है। वही पर हल्दी में मिलने वाला करक्यूमिन कंपाउंड भी हड्डियों के नुकसान और ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी संबंधी रोग) को बढ़ने से रोकने में मदद कर सकता है कैल्सियम हड्डियों के विकास के लिए बहुत जरुरी है। हड्डियों को मजबूत बनाने और उन्हें स्वस्थ रखने में दूध हल्दी के फायदे हो सकते हैं।

डायबिटीज

हल्दी में मिलने वाले करक्यूमिन तत्व शरीर में शुगर लेवल को कम करता है। इसलिए इसको मधुमेह के रोग में लाभकारी माना जाता है। इस अध्ययन में पाया गया है कि डायबिटीज टाइप 1 के मरीजों को 3 माह तक प्रतिदिन 5 ग्राम हल्दी देने से उनका रक्त शर्करा काफी हद कम हो सकता है

सर्दी और खांसी में हल्दी के फायदे

हल्दी में एंटी बक्ट्रियल गुण होते है। इस वजह से यह गले की खराश, खांसी और जुकाम से राहत दिला सकता है

इम्यूनिटी क्षमता बढ़ाने के लिए हल्दी और दूध का उपयोग

  • हल्दी दूध में मौजूद करक्यूमिन बतौर इम्यूनोमॉड्यूलेटरी एजेंट काम करता है
  • ये शरीर में सफ़ेद रक्त कणिकाओं के उत्पादन को बढ़ने का काम करती है।
  • जिससे हमारी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • इन सभी कोशिकाओं की मदद से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत बनी रहती है
  • करक्यूमिन शरीर में एंटीबॉडी प्रतिक्रिया को बढ़ावा देकर गठिया, कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह आदि से बचाव कर सकता

हल्दी और दूध के नुकसान

  • जैसे हल्दी और दूध के फायदे है
  • उसी प्रकार से इसके कुछ नुकसान भी है
  • जिसकी जानकारी निचे दी गई है

ब्लीडिंग प्रॉब्लम

  • अगर किसी को ब्लीडिंग की समस्या है तो उनको हल्दी और दूध का सेवन नहीं करना चाहिए
  • हल्दी और दूध ब्लड क्लॉटिंग की प्रक्रिया को कम कर देता है।
  • जिससे खून जम नहीं पता है और समस्या और अधिक हो जाती है।

मधुमेह

  • हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन सुगर लेवल को कम करता है।
  • जिससे जिन लोगो को कम सुगर की समस्या है उनको नुकसान हो सकता है।
  • ऐसे मरीज को हल्दी वाले दूध का सेवन नहीं करना चाहिए

नपुंसकता

  • हल्दी शरीर में पाए जाने वाले टेस्टोरॉन हार्मोन के स्तर को कम करती है।
  • जिससे स्पर्म सक्रीय रूप से नहीं रह पते है।
  • इसलिए हल्दी वाले दूध से थोड़ा परहेज रखिये

ऑपरेशन

  • हल्दी खून में ब्लड क्लॉटिंग को कम करती है।
  • जिससे ऑपरेशन के दौरान खून अधिक निकलता है।
  • इसलिए जिन मरीजों का ऑपरेशन होने वाला है या हो चूका है
  • उनको हल्दी का प्रयोग नहीं करना चाहिए

 

इस पोस्ट में हमने आपको हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान के बारे में पूरी जानकरी दी है। अगर आपको कोई जानकरी गलत लगती है या अधूरी लगती है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये। हम उसको तुरंत सही कर देंगे। और अगर आर्टिकल पसंद आया हो तो इसको शेयर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.