ब्रोन्काइटिस (bronchitis) क्या है और इसके क्या लक्षण है

ब्रोन्काइटिस Bronchitis वायु मार्ग की परत की सूजन है जिसे फेफड़ों में ब्रोन्काई कहा जाता है। सूजन के कारण सामान्य से अधिक बलगम बनता है। यह फेफड़ों के जरिए होने वाले वायुप्रवाह को अवरुद्ध कर सकता है और फेफड़ों को नुकसान पहुँचा सकता है। तीव्र ब्रोन्काइटिस अकसर कुछ दिनों में बेहतर होना शुरू हो जाता है, लेकिन खाँसी 2 से 4 सप्ताह तक रह सकती है। बिना नुस्खे वाली दवाओ सं  दर्द, बुख़ार को नियंत्रित करने और बलगम को ढीला करने में मदद मिल सकती है। संभव है कि आपके डॉक्टर द्वारा उपचार किए जाने की आवश्यकता तब तक नही हं ो जब तक कि आप अस्वस्थ महसूस नही कर रहे हों या आपको साँस लेने में अधिक परेशानी नही हं ो। चिरकालिक ब्रोन्काइटिस फेफड़ों की एक लंबी अवधि की बीमारी है। यह फेफड़ों की बीमारियों के एक समूह, जिसे COPD या चिरकालिक अवरोधक फुफ्फुसीय रोग कहा जाता है, की एक बीमारी है। नुकसान अकसर समय के साथ बदतर हो जाता है और उसे ठीक नहींकिया जा सकता है।

ब्रोन्काइटिस (Bronchitis) के लक्षण

  • लगातार खाँसी, अकसर पीले या हरे बलगम के
    साथ
  • थकान का अनुभव
  • हरी साँस लेने से सीने में दर्द
  •  साँस लेने पर शोर जैसे घरघराहट या सीटी बजाना
  •  साँस लेने में कठिनाई
  • शरीर में दर्द
  •  बुख़ार या ठंड लगना
  •  गले में खराश
  • बहती या भरी हुई नाक

ब्रोन्काइटिस के कारण

  • जीवाणु-संबंधी या वायरल संक्रमण
  •  धूम्रपान
  •  वायु प्रदुषण
  •  हवा में मौजूद किसी चीज से एलर्जी जैसे पराग
  •  फेफड़ों की बीमार

आपकी देखभाल

आपकी देखभाल में आपको आसानी से साँस लेने में मदद करने के लिए दवाएँ और साँस लेने संबंधी व्यायाम शामिल हो सकते हैं। यदि आपको चिरकालिक ब्रोन्काइटिस है, तो आपको ऑक्सीजन की आवश्यकता हो सकती है। आपकी देखभाल में निम्नलिखित कार्य भी शामिल हो सकते हैं:

  • सर्दी और फ़्लू से बचना।
  • संक्रमण के अपने जोखिम को कम करने के लिए अपने हाथों को अच्छी तरह और बार-बार धोना।
  •  बलगम को पतला रखने के लिए प्रचूर मात्रा में तरल पदार्थ पीना।
  • ह्यूमिडिफायर या वैपोराइज़र का प्रयोग करना।
  • अपने फेफड़ों से बलगम ढीला करने के लिए आसनीय जल निकासी और परिताड़न का प्रयोग करना। आपको सिखाया जाएगा कि यह कै से करना है।
  • हर साल फ़्लू का टीका लगवाएँ और अपने डॉक्टर से निमोनिया का टीका लगवाने के बारे में बात करें ।

साँस लेने में आसानी के लिए

  •  धूम्रपान छोड़ दें। चिरकालिक ब्रोन्काइटिस की क्षति को धीमा करने का एकमात्र तरीका धूम्रपान छोड़ना है। इसे छोड़ने केलिए किसी समय को देर होना न मानें।
  • शराब न पिएँ। इससे आपके वायु मार्ग को साफ करने के लिए खाँसने और छीकं ने की इच्छा में कमी आती है। यह आपके शरीर में तरल पदार्थ की कमी का कारण बनता है, जिससे आपके फेफड़ों में बलगम मोटा हो जाता है और खाँसना कठिन हो जाता है।
  •  ऐसी चीजों से बचें जो आपके फेफड़ों को उत्तेजित करती हैं जैसेकि वायु प्रदू षण, धूल और गैसें।
  • अपने शरीर के ऊपरी भाग को उठाकर सोएँ। फोम वेजेज़ (पच्चर) का उपयोग करें या अपनेबिस्तर के सिर को उठाएँ।

अपने डाक्टर को तत्काल फोन करें यदि

  • ठंड लगना या 101 डिग्री फॉरेनहाइट या 38 डिग्री सेल्सियस से अधिक बुखार होना
  •  अपने इनहेलर्स या श्वास उपचारों का अधिक बार उपयोग करने की आवश्यकता है
  •  अधिक बलगम होता है, रंग बदलता है या खाँसना बहुत मुश्किल हो जाता है
  •  मुँह या उँगलियों की त्वचा या आपके नाखूनों में ई या बदतर होती भूरी या नीली रंगत का आना
  •  बोलने या अपनी सामान्य गतिविधियों को करने में परेशानी होती है
  •  सोते समय अधिक तकियों का उपयोग करना पड़ता है या रात में साँस लेने के लिए कुर्सी पर सोना शुरू करना पड़ता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *