युपीएससी की परीक्षा कैसे पास करे? UPSC की फुल फॉर्म (UPSC full form in hindi)

UPSC full form in hindi – UPSC की परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा में से एक है। भारतीय यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन के द्वारा इसको हर साल आयोजित किया जाता है। इसमें भारत के सर्वश्रेठ कैंडिडेट चुने जाते है। इसके सिलेक्शन के कई चरण होते है। और इसमें अलग अलग विभागों के लिए भर्ती की जाती है। इसमें हर साल लाखो के संख्या में छात्र अप्लाई करते है। इस परीक्षा को पास करना कोई आसान काम नहीं होता है। इस परीक्षा को पास करने वाले कैंडिडेट देश के उच्च पदों पर सेलेक्ट होते है। जो की जनता की सेवा के लिए उत्तरदायी होते है।

UPSC Full Form In Hindi

यूपीएससी की फूल फॉर्म होती है। (Union Public Service  Commission) यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन। जो की भारत की सबसे कठिन परीक्षा में से एक होती है। हर साल लाखो उम्मीदवार इसको पास करने का सपना देखते है। और इसमें से बहुत कम् ऐसे उम्मीदवार होते है जो इस परीक्षा को पास कर पाते है। साथ में ही इसमें जो लोग पास होते है। उनको उनके रैंक के हिसाब से अलग अलग विभाग में पोस्टिंग मिलती है। देश को चलाने में यूपीएससी में सेलेक्ट आईएएस आईपीएस की बहुत अहम् भूमिका होती है। आज इस पोस्ट में इसकी पूरी जानकारी आपको दी जाएगी।

और अधिक पढ़े -: एमबीए ग्रेजुएट कैसे बने । कहाँ से करे एमबीए

यूपीएससी में कौन कौन सी सर्विस होती है ? (UPSC Service Details)

UPSC हर साल अलग अलग सर्विस के लिए एग्जाम लेती है। जिनमे बहुत सारे विभागों के लिए भर्ती की जाती है। इसकी लिस्ट निचे दी गई है।

IAS (Indian Administration Service)

  • यूपीएससी की परीक्षा में आईएस के लिए कैंडिडेट पहली चॉइस भरते है। इसमें देश के सर्वश्रेठ कैंडिडेट को इस सेवा में सिलेक्शन मिलता है। जो टोपर होते है। उनको इस सर्विस में जाने का मौका मिलता है। इस सर्विस में राज्य में डिस्टिक कलक्टर के पद शामिल होते है। साथ में ही डिस्टिक मजिस्टेट का पद भी इसमें ही शामिल होता है। और आप तो जानते ही है की किसी भी राज्य में एक डिस्टिक कलक्टर का पद सर्वश्रेठ माना जाता है। इसके हाथ में पूरी पावर होती है। सभी विभाग इसके निचे ही काम करते है।
  • और अधिक पढ़े -:  आईएएस कैसे बने। पूरी जानकारी हिंदी में

IPS (Indian Police Service)

  • भारतीय पुलिस सेवा देश के दूसरी सबसे अच्छी सेवा मानी जाती है। इसमें देश और राज्य में लौ एंड आर्डर को लागु करने वाले अधिकारी आते है। यूपीएससी की परीक्षा में दूसरे नंबर पर लोग इस सेवा को चुनते है। और इस परीक्षा को पास करने का बाद उम्मीदवार किसी भी पुलिस या रक्षा सेवा में जा सकता है । जहा उनको सुप्रिडेंट और पुलिस का पद मिलता है। या असिस्टेंट सुप्रिडेंट का पद भी मिल सकता है। जो की एक उच्च पद होता है। इसमें राज्य और देश में लौ एंड आर्डर का पालन करवाना इनका मुख्य लक्ष्य होता है।
  • और अधिक पढ़े -: ओ टी टी प्लेटफार्म क्या होते है।

IRS (Internal Revenue Service)

  • इस सेवा में भारत के वित् विभाग से सम्बंधित अधिकारी सेलेक्ट होते है। ये सेवा देश में तीसरे नंबर की सबसे अच्छी सेवा मानी जाती है। इस सेवा में जाने के लिए उम्मीदवार को कॉमर्स साइड से ग्रेजुएशन करना जरुरी होता है। UPSCकी परीक्षा में इस सर्विस के लिए उम्मीदवार को चुना जाता है। देश के उच्च वित् विभाग और सरकारी कंपनी में इस सेवा के द्वारा प्रबंधक या आयुक्त को चुना जाता है। जो इनकी सभी कार्य के जिम्मेदार होते है। पूरा विभाग इनके निचे ही काम करता है।
  • और अधिक पढ़े -: बिपिन रावत का जीवन परिचय

IFS (Indian Forest Service)

  • यूपीएससी के तहत इस सेवा में वो उम्मीदवार जाते है। जो या तो ये ऑप्शन पहले से सेलेक्ट क्र चुके होते है या फिर उनकी रैंकिंग कुछ कम होती है। इस विभाग में भारतीय वन सेवा सम्बंधित अधिकारी चुने जाते है। जो एक भारत के फारेस्ट डिपार्टमेंट के लिए जिम्मेदार होते है। भारत में वन्य जीवन की रक्षा का भर इनके ऊपर ही होता है।
  • और अधिक पढ़े -: डॉक्टर कैसे बने ?। इसकी फीस कितनी होती है ?

IES (Indian Engineering Services)

  • UPSC परीक्षा में भारतीय इंजीनियरिंग विभाग के लिए कैंडिडेट को सेलेक्ट किया जाता है। जो की भारत के सभी प्रकार के निर्माण कार्यो की निगरानी के लिए उत्तरदायी होते है। भारत में जो भी सरकारी निर्माण कार्य और बिल्डिंग और अन्य काम होते है। वो इस विभाग के द्वारा ही पुरे किये जाते है। और इस विभाग में यूपीएससी से जो कैंडिडेट चुने जाते है। उनके लिए इंजीनियरिंग में पढाई करना जरुरी होता है। जो उम्मीदवार बीटेक या एमटेक कर चुके है वो इसके लिए आवेदन कर सकते है।
  • और अधिक पढ़े -: बिना गारंटी के 10 लाख का मुद्रा लोन

CDS (Combined Defence Service)

IPOS (Indian Postal Service)

  • UPSC के तहत डाक विभाग में भी भर्ती की जाती है। जिन उम्मीदवार को इंडियन पोस्टल सर्विस को ज्वाइन करना होता है वो इसके लिए आवेदन कर सकते है। भारतीय डाक विभाग भारत के संचार निगम के तहत आता है। इसमें सभी प्रकार की पार्सल सर्विस और डाक सर्विस दी जाती है। सिविल सर्विस से इस विभाग में निदेशक और अस्टिस्टैंट के पद के लिए आवेदन मांगे जाते है।

ICLS (Indian Corporate Law Service)

  • ये भारतीय कॉर्पोरेट सेवा है। इसमें जो भी भर्ती होती है वो सभी उच्च पदों के लिए होती है। इसमें वो कैंडिडेट अप्लाई कर सकते है जिन्होंने लौ से पढाई कर रखी है।

IDES  (Indian Defence Estates Service)

  • भारतीय अंतर संपत्ति सेवा

IIS (Indian Information Service)

  • इस सर्विस में भारतीय सुचना आयोग के लिए भर्ती की जाती है। भारत के सुचना मंत्रालय के द्वारा ही इसके पदों को निर्धारित किया जाता है। और सिविल सर्विस के तहत इसमें भर्ती की जाती है। इस सर्विस से टेलीकॉम और सुचना प्रसारण से सम्बंधित विभागों में अफसर की पोस्टिंग होती है।

यूपीएससी के लिए पात्रता

अगर आपको सिविल सर्विस की तैयारी करनी है। तो इसके लिए पूरी जानकारी ऊपर दी गई है साथ में क्वालिफिकेशन की जानकारी निचे लिस्ट में दी गई है।

  • कैंडिडेट भारत का स्थाई नागरिक हो।
  • उम्मीदवार की उम्र इक्कीस वर्ष से कम न हो।
  • किसी भी विषय में स्नातक किया हो।
  • जिन्होंने अभी स्नातक की परीक्षा दी है वो भी इसके लिए पात्र होंगे
    अधिकतम उम्र इसके लिए 32 वर्ष है।
  • आरक्षण के द्वारा मिलने वाले लाभ अलग से होते है।
  • सिविल सर्विस में कोई भी उम्मीदवार सिर्फ छह बार ही परीक्षा दे सकता है।
  • इसके बाद वो इसकी परीक्षा में नहीं बैठ सकता।

UPSC परीक्षा के चरण

सिविल सर्विस की परीक्षा के तीन चरण होते है। जिनकी जानकारी आपको निचे विस्तृत रूप से दी गई है।

प्री एग्जाम (UPSC Pree Exam)

सिविल सर्विस में प्री एग्जाम परीक्षा का पहला चरण होता है। इसे कैंडिडेट की बौद्धिक क्षमता को आँका जाता है। इस परीक्षा में दो एग्जाम होते है। पहले एग्जाम में सामान्य ज्ञान और अन्य सब्जेक्ट होते है। जबकि दूसरे एग्जाम में हिंदी और इंग्लिश के एग्जाम होते है। दोनों ही एग्जाम कुल चार सौ नंबर के होते है। अगर आप इस एग्जाम को पास कर लेते है तो ही आप आगे के एग्जाम में बैठ सकते है।

मैन एग्जाम (UPSC Main Exam)

प्री एग्जाम पास करने के बाद आपके मैन एग्जाम चार महीने बाद शुरू होते है। इस एग्जाम में आपके नौ पेपर होते है। जो की लिखित में होते है जबकि प्री में सभी एग्जाम ऑप्शनल होते है। नौ में से दो एग्जाम आप अपनी मर्जी से जो सब्जेक्ट चुनते है उसके होते है। दो एग्जाम आपके हिंदी और इंग्लिश के होते है बाकि के पांच एग्जाम सामान्य ज्ञान और अन्य टॉपिक पर होते है। इन सबके टोटल अंक ही आपको मेरिट लिस्ट को बनाते है। प्री एग्जाम के मार्क कट ऑफ में नहीं जुड़ते है। आपके इंटरव्यू और मैन एग्जाम में जो मार्क है उनकी के आधार पर कट ऑफ बनती है। मैन एग्जाम 1750 अंक का होता है।

पेपर सिलेबस

  • पहला पेपर – निबंध
  • दूसरा पेपर – भारत की संस्कृति , भूगोल, समाज और विश्व की जानकारी
  • तीसरा पेपर – सविधान और उससे सम्बंधित सभी तथ्य , इंटरनेशनल रिलेशन और कानून
  • चौथा पेपर – विकास और टेक्नोलॉजी , वानिकी जैव पर्यावरण , आपदा प्रबंधन
  • पांचवा पेपर – भारत की अखंडता और भारत की निति
  • छठा पेपर – वैकलिक विषय 1
  • सातंवा पेपर – वैकलिक विषय 2

इंटरव्यू (UPSC Interview)

सिविल सर्विस में दोनों एग्जाम क्लियर करने के बाद आपका इंटरव्यू होता है। ये 275 नंबर का होता है। इस इंटरव्यू में आपकी बौद्धिक क्षमता और पर्सनालिटी को देखा जाता है। साथ ही आपको तर्क वितर्क की क्षमता को भी देखा जाता है। आपके निर्णय लेने के क्षमता पर भी गौर किया जाता है। मैन एग्जाम और इंटरव्यू के मार्क टोटल मिलकर 2025 होते है। और इन मार्क से ही कट ऑफ बनती है। है साल 1000 से 1100 के बिच ही कट ऑफ रहती है।

यूपीएससी की तैयारी कैसे करे ?

हर साल लाखो कैंडिडेट इसके लिए अप्लाई करते है। सिविल सर्विस भारत की सबसे कठिन परीक्षा में से एक है। इसकी तैयारी करने के लिए आपको नियम और सहनशीलता के साथ डिस्प्लीन में रहकर तैयारी करनी होगी। आपको इसके लिए मानसिक रूप से तैयार होना होगा। साथ ही पढाई आपको स्मार्ट तरीके से करनी होगी। इसके लिए प्लान बनाना होगा जिसमे कैसे पढाई करनी है। सिलेबस कैसे कवर करना है। इसका पूरा प्लान बनाकर तैयारी शुरू करनी होगी।

साथ ही मैन मैन टॉपिक को कवर करना होता है। इसके साथ ही आप NCERT की बुक आपको जरूर पढ़नी चाहिए ताकि आपको किसी भी प्रकार का कोई कन्फूशन नहीं हो इन बुक में सभी प्रकार का सिलेबस पूरा होता है। साथ में सिविल सर्विस के ये सबसे विश्वसनीय बुक होती है। टाइम टेबल बनाकर तैयारी करे साथ में ही हेल्थ पर भी ध्यान देना होगा। आपको पूरा स्टडी मेटेराइल पहले ही ले लेना है। और इंटरनेट पर भी आपको इसका सिलेबस और कोचिंग मिल जाती है आप वह से भी इसकी तैयारी कर सकते है।

टॉप बुक

  • भारतीय राजनीती – ऍम लक्ष्मीकांत
  • वर्ल्ड जिओग्राफी – मजीद हुसैन
  • इंडियन इकोनॉमी – रमेश सिंह
  • भारत का सविधान – डिडी बासु
  • भूगोल – जीसी लेओंग

UPSC (यूपीएससी) के संपर्क विवरण

  • कार्यालय का पता- संघ लोक सेवा आयोग, धौलपुर हाउस, शाहजहाँ रोड, नई दिल्ली – 110069
  • फ़ोन नंबर- 011-23098543 / 23385271/23381125/23098591
  • ईमेल आईडी- feedback-upsc@gov.in
  • वेबसाइट- www.upsc.gov.in

FAQ’s

प्रश्न – यूपीएससी में कौन कौन सी पोस्ट होती है?
उत्तर –  IAS, IPS, IFS, IAAS, ICAS, ICLS, IDAS, IDES, IIS, IOFS, ICFS, IPOS, IRAS, IRPS, IRTS, IRS, ITS, RPF

प्रश्न – यूपीएससी का क्या काम होता है?
उत्तर – UPSC एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो भारत की केंद्र और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओं में भर्ती के लिए जिम्मेदार है.

प्रश्न – UPSC पास करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?
उत्तर – आईएएस, आईपीएस, आईईएस या आईएफएस अधिकारी

प्रश्न – यूपीएससी की फीस कितनी है?
उत्तर – 100 रूपये

प्रश्न – यूपीएससी में कितने पेपर होते हैं?
उत्तर – मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं जिसमें दो क्वालिफाइंग पेपर और सात मेरिट-आधारित पेपर शामिल होते हैं. प्रत्येक पेपर तीन घंटे की अवधि का होगा।

प्रश्न – आईएएस का इंटरव्यू कितने अंको का होता है?
उत्तर – No Time Limit

प्रश्न – आईएएस को हिंदी में क्या बोलते हैं?
उत्तर – भारतीय प्रशासनिक सेवा

प्रश्न – डीएम की पावर कितनी होती है?
उत्तर – जिले के सभी सरकारी विभाग का मुखिया जिला अधिकारी ही होता है।

प्रश्न – आईएएस बनने के लिए कितनी योग्यता चाहिए?
उत्तर –  स्नातक

प्रश्न – आईपीएस की ट्रेनिंग कितने दिन की होती है?
उत्तर – 11 महीनों की अवधि

प्रश्न – आईपीएस का फुल फॉर्म क्या है?
उत्तर – भारतीय पुलिस सेवा  Indian police service

प्रश्न – डीएम बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए?
उत्तर – 21 Year

Leave a Reply

Your email address will not be published.