क्या होता है NDPS Act, कितना ड्रग्स लेने, रखने या बेचने पर हो सकती है सजा?

NDPS Act में कितना ड्रग्स अपने साथ रख सकते है। कितनी मात्रा में रखेंगे तो पुलिस कुछ नही कहेगी। या फिर बिल्कुल भी नही रख सकते। दोस्तो ऐसे बहुत से सवाल अक्सर दिमाग मे घूमते रहते है। खासकर तब जब पता लगता है कि कोई बड़ी मुर्गी फंस गई जाल में। जैसे अभी हाल ही में आर्यन खान आ गया आँट में। खैर इन सब सवालों के जवाब आज इस लेख में हम देने वाले हैं आपको।

आर्यन खान केश में क्या हुआ था ?

दोस्तो बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान का बेटा आर्यन खान पिछले कुछ दिनों से लगातार सुर्खियों में हैं। पता ही होगा आपको। नही पता तो आपको बता दूं कि उस पर क्रूज पर रेव पार्टी के दौरान ड्रग्स का सेवन करने, रखने, खरीदने-बेचने का आरोप है। हाल ही में नारकोटिक्स ब्यूरो (NCB) ने उन्हें हिरासत में लिया। ऐसे में जानना सामियक रहेगा कि नारकोटिक्स एक्ट यानी NDPS क्या है। कितनी मात्रा में ड्रग्स लेना या बेचना मुसीबत बन सकता है।

https://youtu.be/4etEPZ_H4Ho

NDPS Act में कौन कौन से Drugs शामिल हैं ?

देखिये दोस्तो नारकोटिक्स ड्रग्स साइकोट्रोपिक सब्सटेंस एक्ट 1985 (NDPS) साल 1985 में भारत की संसद में पारित किया था। ओर फिर इसे भारत देश मे लागू किया गया। देश में किसी भी नशीले पदार्थ की बिक्री ओर सेवन की रोकथाम के लिए इसे बनाया गया था। इसमें साल 1988, 2001 और 2014 में संशोधन भी हो चुके हैं। यानी समय के अनुसार इस एक्ट में सुधार भी किये गये। इस एक्ट के तहत दो तरह के नशीले पदार्थ रखे गए हैं। पहला नारकोटिक यानी नींद लाने वाले ड्रग्स, जो प्राकृतिक चीजों से बनते हैं। जैसे चरस, गांजा, अफीम, हेरोइन, कोकेन, मॉर्फीन आदि। दूसरा है साइकोट्रोपिक यानी दिमाग पर असर डालने वाली ड्रग्स, जो केमिकल से बनते हैं, जैसे- एलएसडी, एमएमडीए, अल्प्राजोलम।

NDPS Act में पुलिस को क्या अधिकार मिले हैं ?

बिना Medical सलाह के इन Drugs का अधिक मात्रा में सेवन करना, रखना, खरीदना और बेचना जुर्म हैं। NDPS एक्ट की धारा 42 के अंतर्गत जांच अधिकारी को बगैर किसी वारंट या अधिकार पत्र के तलाशी लेने, मादक पदार्थ जब्त करने और Arrest करने का अधिकार भी प्राप्त है। यानी केवल शक होने पर भी आपको Arrest किया जा सकता है ओर फिर आपसे पूछताछ की जा सकती है। वहीं बात करें NDPS Act की धारा 41 की तो सरकार को नशीली दवा का सेवन करने वाले की पहचान, इलाज और पुनर्वास केंद्र की स्थापना का अधिकार भी देती है।

कितनी सजा का प्रावधान है ?

  • NDPS एक्ट के तहत 10 से 20 साल की जेल और जुर्माने का प्रावधान है।
  • यानी अगर आप इनमे से किसी भी ड्रग का सेवन करते
  • या फिर बेचते पकड़े जाते है
  • तो आपको काम से कम 10 और अधिक से अधिक 20 साल की सजा हो सकती है।
  • नशीली Drugs की मात्रा के आधार पर कैद
  • और जुर्माना लगाया जाता है।
  • आपके पास जितना कम ड्रग उतनी कम सजा
  • ओर क्वांटिटी जितनी ज्यादा तो सजा भी उतनी ही ज्यादा।
  • इस मामले में आरोपी की जमानत
  • पुलिस की धाराओं पर निर्भर करती है।
  • पुलिस के क्या धारा आप पर लगाई है
  • उसके आधार पर ही ये तय होगा
  • कि आपको जमानत मिलेगी या फिर नही मिलेगी।

तो दोस्तो इस लेख में आपने जाना कि ड्रग के विषय मे। आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा ये हमें कमेंट में जरूर बताना। आर्टिकल पसंद आया हो तो लाइक ओर शेयर जरूर करना।

Leave a Reply

Your email address will not be published.