इन कंपनियों में कर्मचारियों की नौकरी को हो सकता है खतरा

बदलते समय के साथ कंपनी अपने स्टाफ और कर्मचारीयो की संख्या में कटौती और बढ़ोतरी करती रहती है। ताकि उनका वित्तीय आधार सुरक्षित रहे। और अभी के टाइम में कुछ बड़ी कंपनी है जो अपने कर्मचारियों की संख्या में कटौती करने वाली है।

ओला कंपनी अपने सॉफ्टवेयर विभाग से कर्मचारियों की छटनी करने वाली है। ये निर्णय ओला कंपनी के इलेक्ट्रिक स्कूटर की बिक्री में कमी आने की वजह से कर रही है। जो कर्मचारी ओला ऍप डिपार्टमेंट में काम करते है उनके लिए ये बुरी खबर खबर है।

OLA की और से कितने कर्मचारी की नौकरी जा सकती है। इसके बारे में कोई सप्सटिकरण नहीं दिया गया है। लेकिन पिछले दिनों कंपनी ने पहले प्री-ओन्ड कार बिजनेस, ओला कार्स और क्विक कॉमर्स बिजनेस ओला डैश के बंद होने के कारण करीब 2,000 कर्मचारियों की छंटनी की थी।

भारत की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी ओला की और से कहा गया है की भारत की सबसे बड़ी EV कंपनी ओला इलेक्ट्रिक व्हीकल, सेल, बैटरी, मैन्युफैक्चरिंग और ऑटोमेशन में इंजीनियरिंग और R&D क्षमताओं के निर्माण के साथ नॉन-सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग डोमेन पर अपना फोकस बढ़ा रही है

ओला स्कूटर की बिक्री गिरने की वजह पिछले साल ओला स्कूटर में आग लगना बताया जा रहा है। अभी के समय ओला में दो हजार तकनिकी वर्कर है। ओला अपने तकनिकी विभाग में बढ़ोतरी करने वाली है। और सॉफ्टवेयर डिपार्टमेंट में कर्मचारियों की छटनी करने वाली है। कंपनी ने अप्रैल में 12,691 स्कूटर बेचे थे। अगस्त में कंपनी ने केवल 3,351 व्हीकल्स की बिक्री की, जो पिछले 6 महीनों में सबसे कम है। बिक्री में गिरावट ने ओला इलेक्ट्रिक को अपनी ऑनलाइन डायरेक्ट सेलिंग रणनीति में बदलाव करने के लिए भी प्रेरित किया है।

ओला, ब्लिंकिट, बायजूस, अनएकेडमी, वेदांतू, कार्स24, मोबाइल प्रीमियर लीग, लीडो लर्निंग, एमफाइन, ट्रेल, फरलैंको और कई दूसरी कंपनियां इस साल अब तक हजारों कर्मचारियों की छंटनी कर चुकी हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *