what is processor ? प्रोसेसर क्या है और कैसे काम करता है ?

PROCESSOR –  टेक्नोलॉजी के इस ज़माने में सब कंप्यूटर फ़ोन्स , टेबलेट का इस्तेमाल करते है। और इन सब डिवाइस में लगा होता है PROCESSOR। जिसकी आज हम बात करने वाले है। कंप्यूटर हो या मोबाइल फ़ोन्स हो या फिर एटीएम मशीन हो या फिर हवाई जहाज हो हर जगह कंप्यूटर के दवारा ही कण्ट्रोल होता है।

Processor क्या होता है?

COMPUTER के MOTHERBOARD में लगी एक छोटी सी चिप को PROCESSOR बोलते है। जिसका काम COMPUTER में यूजर द्वारा दी गई इनपुट को प्रोसेस करके आउटपुट देना होता है। ये आकार में बहुत छोटा होता है। और इसको मदर बोर्ड के सीपीयू के सॉकेट में लगाया जाता है। सीपीयू में PROCESSOR ज्यादा टाइम चलाने पर गर्म होने लगता है जिसकी वजह से कंप्यूटर सही से काम नहीं कर पाता

processorइसलिए प्रोसेसर के ऊपर एक सलूशन लगाया जाता है और एक फैन लगाया जाता है ताकि ये गर्म न हो और सही से काम करे। प्रोसेसर में बहुत सारी पिन पॉइंट होते है और हल्के दवाब से भी टूट सकते है और प्रोसेसर ख़राब हो सकता है इसलिए इसको बड़ी सावधानी से लगाया जाता है। हर प्रोसेसर का पता उसकी पिन के हिसाब से ही पता चलता है की ये प्रोसेसर कौन से वर्जन का है। मार्किट में बहुत सारे प्रोसेसर के टाइप्स मौजूद है।

Processor  कैसे काम करता है?

और क्या आप जानते हो की कंप्यूटर को भी कोई कण्ट्रोल करता है। और इसके बिना कंप्यूटर का अस्तित्व ही नहीं है। जी हां हम यहाँ प्रोसेसर की ही बात कर रहे है। प्रोसेसर का  काम होता है यूजर की दी गई हर कमांड को समझना और उसके अनुसार सभी हार्डवेयर को कमांड देना और उनसे कार्य करवाना।

प्रोसेसर ही COMPUTER की सभी कमांड को अलग अलग बाँट कर अलग अलग हार्डवेयर तक भेजता है । इसको हम कंप्यूटर का MIND भी कह सकते है। प्रोसेसर की फुल फॉर्म होती है। सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट। प्रोसेसर कई तरह के होते है जैसे सीपीयू , माइक्रोप्रोसेसर यूनिट भी कह सकते है।

प्रोसेसर कंप्यूटर की हर गतिविधियों पर नजर रखता है। और कंप्यूटर की हर कमांड के लिए उत्तरदायी होता है। चाहे कोई कैलक्यूशन हो। प्रोसेसर एक ऐसा हार्डवेयर होता है जो यूजर द्वारा दिए गए इनपुट को प्रोसेस करके रिजल्ट देता है

कंप्यूटर में प्रोसेसर क्यों लगाया जाता है ?

प्रोसेसर का काम कंप्यूटर की गतिविधिया संचालित करना होता है। कंप्यूटर में फाइल्स और अन्य प्रोग्राम को रन करना और यूजर कमांड को प्रोसेस करके सही से रिजल्ट देना इसका मुख्य काम होता है।

प्रोसेसर का इतिहास

इंटेल कंपनी ने सबसे पहले प्रोसेसर का अविष्कार किया था। सबसे पहले जो प्रोसेसर आता था वो सिंगल चिप माइक्रो प्रोसेसर आता था। इंटेल Intel 4004 Microprocessor जो की साल 1971 में बनाया गया था परन्तु आज के समय में जो प्रोसेसर आ रहे है वो बहुत ही तेज गति से कार्य करने में सक्षम होते है। पहले जो प्रोसेसर आते थे वो थोड़े स्लो और साइज में बहुत बड़े होते थे। अभी जो प्रोसेसर आ रहे है उनका साइज बहुत ही छोटा होता है।

प्रोसेसर कितने तरह के होते है ?

अभी तक जो प्रोसेसर मार्किट में है वो दो तरह के होते है।

  • INTEL PROCESSOR
  • AMD PROCESSOR

Intel processor

Intel

इंटेल कंपनी ने जब अपना पहला प्रोसेसर लांच किया था तब उस प्रोसेसर में सिर्फ एक काम को एक बार में हैंडल कर सकता था ये प्रोसेसर , इसके बाद इंटेल ने इसका सेकंड वर्जन लांच किया जिसका नाम था इंटेल पेंटियम प्रोसेसर ,

इसकी खासियत ये थी की इस प्रोसेसर से एक ही समय में दो प्रोग्रामो को नियंत्रित किया जा सकता था। इसके बाद धीरे धीरे इंटेल ने प्रोसेसर में नए नए सुधार किये और इसके अपडेटेड वर्जन लांच किये जिनमे Intel Pentium, Intel Pentium 3, Intel Pentium 4, Intel Celeron Processor, Intel Core 2 Duo, Intel Core 2 Quad, Intel Xeon processor और intel i3, intel i5, intel i7, आदि।

Amd processor

Amd processor

धीरे धीरे समय के साथ टेक्नोलॉजी में बदलाव के साथ और एक कंपनी ने अपना PROCESSOR लांच किया जिस हम आमद के नाम से जानते है। आमद और इंटेल कंपनी ने बहुत सारे PROCESSOR मार्किट में उतारे। अभी मार्किट में इंटेल का Intel Core i9 Processors और AMD का AMD Ryzen 9 3900X लेटेस्ट प्रोसेसर है और इनकी स्पीड भी बहुत अच्छी है। लेकिन दाम भी बहुत अच्छे देने पड़ते है।

प्रोसेसर कोर? what is core in processor?

PROCESSOR में कोर का मतलब होता है प्रोसेसर की पावर कितनी है। उसकी कार्य करने उसकेकी क्षमता कितनी है। पहले सिंगल कोर के कंप्यूटर आते थे। जिनकी कार्य क्षमता बहुत कम होती थी। अगर आपका कंप्यूटर एक कोर PROCESSOR का है तो वो सिर्फ एक काम ही कर पायेगा एक समय में। इसी प्रकार अगर आपका कंप्यूटर ड्यूल कोर है तो वो एक से अधिक कार्य कर सकता है एक समय में इसकी प्रकार कोर बढ़ाने पर इसकी कार्य क्षमता बढ़ने लगती है।  उसके बाद नए नए अपडेट आते गए और इनके कार्य करने की क्षमता बढ़ती गई।

  • Dual Core में 2 Core
  • Quad Core में 4 Core
  • Hexo Core में 6 Core
  • Octa Core में 8 Core
  • Deca Core में 10 Core

PROCESSOR क्लॉक सिस्टम

  • क्लॉक स्पीड PROCESSOR में कंप्यूटर के सीपीयू के राउंड को बोलते है
  • ये गीगा हर्ट्ज में मापा जाता है।
  • किसी भी कंप्यूटर के कण्ट्रोल प्रोसेसिंग यूनिट का क्लॉक चक्र अधिक होता वो कंप्यूटर बहुत तेजी से काम करेगा।
  • हर प्रोसेसर का क्लॉक राउंड अलग अलग होता है।
  • क्लॉक स्पीड में mhz का mean होता है।
  • one million cycles per second. प्रोसेसर की क्लॉक स्पीड कम है
  • तो वह धीरे काम करेगा और आपके कंप्यूटर के काम करने की स्पीड भी कम होगी।
  • इसके आलावा और भी दुसरे components जैसे की motherboard, RAM, hard drive,  और number of processor cores (जैसे की dual core or quad core) के ऊपर भी computer speed निर्भर करती है.

सीपीयू क्या है

  • सीपीयू मुख्य रूप से तीन प्रकार के काम करता है।
  • पहला ये की यूजर से इनपुट लेना। जिसमे इनपुट के रूप में कुछ भी हो सकता है।
  • जैसे कोई मीडिया फाइल हो सकती है
  • या फिर कोई वीडियो हो सकता है।
  • या फिर कोई टेक्स्ट डॉक्यूमेंट भी हो सकता है।
  • यूजर से इनपुट लेने के बाद सीपीयू प्रोसेसिंग के बाद यूजर को सही परिणाम देना।

जब सीपीयू में यूजर इनपुट देता है तो सीपीयू को उस का सही रिजल्ट देने के लिए कुछ key कंपोनेंट्स का इस्तेमाल करना पड़ता है।

इसके साथ वो कुछ लॉजिकल ऑपरेशन भी करते हैं जैसे AND,NOT and OR, CPU की मदद के लिए. Control Circuit data traffic को CPU से slower इनपुट आउटपुट devices के तरफ Redirect करते हैं

ताकि ट्रैफिक का आदान और प्रदान हो सके. Memory Management Unit data के flow को monitor करता है

 

Follow on YouTube channel – follow now 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *