आसाराम बापू का जीवन परिचय , परिवार, आश्रम, आरोप, जेल

आसाराम बापू को कौन नहीं जानता। बहुत ही पॉपुलर व्यक्ति और संत है। उनके बारे में अख़बार भरे रहते है। तो आज उनके बारे में पूरी जानकारी इस लेख में आपको देंगे। आश्रम बापू के लगभग सोशल मीडिया पर चालीस मिलियन फॉलोवर है। और अभी वो जेल की सजा काट रहे है। उनके साथ कुछ विवाद भी जुड़े है। इनके आश्रम में चैरिटी संस्था से लेकर इनकी खुद की कंपनी भी है। जिनका सालाना बिज़नेस करोडो रूपये का है। आसाराम बापू अभी जेल में बलात्कार के आरोप में बंद है।


आसाराम बापू

Asaram BapuDetails
पूरा नाम आसाराम
असली नामआसुमल थाउमल सिरुमलानी हरपलानी
जन्म तिथि17 अप्रैल 1941
जन्म स्थाननवाब-शाह सिंध पाकिस्तान
निवास स्थान अहमदाबाद
माता का नाम मेहानगिबा
पिता का नामथाउमल सिरुमलानी
पत्नी का नाम लक्ष्मी देवी
बच्चे का नाम भारती देवी, साईं नारायण
धर्म हिन्दू
नागरिकता भारतीय
कुल सम्पति 400 करोड़
वजन 70 किलो
हाइट 165 सेमी
गुरु का नाम लीलाधर शाह
वर्तमान पता जेल
जुर्म बलात्कार, हत्या
सजा उम्रकैद


आसाराम बापू का जीवन सफर

आसा राम बापू का जन्म भारत के आजाद होने से पहले और वर्तमान में पाकिस्तान में मौजूद बेराणी गांव में हुआ था। आसाराम का वास्तविक नाम आसुमल सिरुमलानी हरपलानी है। उनके पिता का नाम थाउमल सिरुमलानी और माता का नाम मेहानगिबा था। बचपन से ही उनको धर्म में रूचि थी। ब्रिटिश काल के दौरान हुए भारत के विभाजन के समय इनका परिवार हिंदुस्तान आकर  गुजरात राज्य के अहमदाबाद में आकर बस गया था।

और अधिक पढ़े -: संत कबीर दास का जीवन परिचय, दोहे, कविताये

Asaram bapu

इनका परिवार सिंधी मूल से सम्बंधित था। इनके पिता जी लकड़ी और कोयले का काम किया करते थे। आसाराम की उम्र कम ही थी तभी इनके पिता ही का देहांत हो गया था। इसके बाद इन्होने अपने पिता जी के काम को संभालना शुरू कर दिया। उनकी शादी हो गयी थी। उनकी पत्नी का नाम लक्ष्मी देवी था। उनके एक पुत्र और एक पुत्री है। पुत्र का नाम साई नारायण है और पुत्री का नाम भारती देवी है।  लेकिन उनका मन गृहस्थी में नहीं था। तो तेहिस साल की उम्र में ही घर छोड़ दिया और अध्यात्म की और मुड़ गए। पुरे भारत देश में तीर्थ सथानो का भर्मण करने लगे थे। इनको अपनी माता से ही अध्यात्म की शिक्षा मिली थी। देश भ्रमण के दौरान इनकी मुलाकात लीलाशाह जी महाराज से हुयी और उनके साथ वो नैनीताल के आश्रम में चले गए।

और अधिक पढ़े -: तुलसी दास का सम्पूर्ण जीवन परिचय

आसाराम नाम परिवर्तन

नैनीताल के आश्रम में गुरु के सानिध्य में उनको दीक्षा मिली और यही उनको नया नाम दिया गया। और गुरु के भक्तो के साथ घूम घूम कर गुरु जी की दीक्षा का प्रचार करने लगे। और सत्संग प्रोग्राम करने लगे थे। उनकी लोकप्रियता बहुत ज्यादा हो गई थी। लाखो में उनके शर्दालु बन गए थे। बच्चे बड़े, महिलाये सभी लोग इनके सत्संग में आने लगे थे। इसके बाद इक दिन वो हेलीकॉप्टर से कही जा रहे थे तो इनका हेलीकाप्टर क्रैश हो गया था लेकिन आसाराम की जान बच गई। इसके बाद उनके प्रशंसको की संख्या बढ़ती चली गई और लोग उनको आसाराम से बापू आसाराम कहने लगे थे।

और अधिक पढ़े -: नीरज चोपड़ा की पूरी जानकारी, माता पिता, खेल, गर्लफ्रेंड

आसाराम के आश्रम

इसके बाद उन्होंने अहमदाबाद में मठ की स्थापना की इसके बाद इस मठ को उन्होंने आश्रम में बदल दिया और उनके साथ उस वक्त उनके कुछ अनुयायी रहा करते थे। वही पर भजन सत्संग करते थे। इसके बाद उनके आश्रमों पर सरकार की नजर पड़ी और उनको कई क़ानूनी समस्याओ का सामना करना पड़ा था। इसके बाद गुजरात सरकार की तरफ से उनको दस एकड़ ज़मीन आश्रम के लिए दी गई।

लेकिन साथ में आश्रम ने पास के ही गांव की छह एकड़ ज़मीन पर जबरदस्ती कब्ज़ा कर लिया। इससे गांव के लोग नाराज हो गए और पुलिस में मामला दर्ज हो गया और पुलिस ने वहा से उनका आश्रम हटवा दिया और ज़मीन सरकार के पास वापस चली गयी। लेकिन आसाराम के पास और भी बहुत सारे आश्रम हो चुके थे तो उन्हें कोई खास फर्क नहीं पड़ा। अभी इस समय आश्रम के दुनिया भर में करीब 350 आश्रम है। और इन सबका हेडक्वाटर अहमदबाद में है। इनकी योग सेवा समिति इनके सभी आश्रम को संभालती है। इनके सभी ट्रस्ट की नेटवर्थ करीब चार सौ करोड़ के आसपास है।

और अधिक पढ़े -: गौहर खान की पूरी जानकारी, उम्र, शादी, पति, बच्चे

विवाद

आसाराम बापू के साथ विवादों से पुराना नाता रहा है। उनके ऊपर कई गंभीर आरोप लग चुके है। और अभी वो जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे है। साल 2008 में आसाराम के आश्रम में बनाये बाल केंद्र में बच्चो की मौत हो गयी थी। इसका मामला पुलिस में दर्ज हुआ और छानबीन शुरू हुयी थी। और इस छानबीन में पता चला था की आश्रम में पढ़ने वाले इन बच्चो के माता पिता ने पूरी फीस जमा करवाई थी लेकिन उनको रशीद नहीं दी गई। बाद में पक्की रशीद नहीं मिलने फीस का मामला गरमा गया और उन बच्चो का शव उनके आश्रम से मिला था। इसके बाद इनके आश्रम को लोगो ने बंद करवा दिया था।

और अधिक पढ़े -: मान्यता दत्त की पूरी जानकारी

मिलावटी घी

इसके बाद इनके आश्रम में बनाये जा रहे घी में भी मिलावट की बात सामने आई थी इस पर काफी हंगामा हुआ था। और उनके आश्रम ने गुजरात सरकार की ज़मीन पर अतिक्रमण भी कर रखा था। आसाराम बापू भी कम कलाकार नहीं है। उन्होंने एक सत्संग प्रोग्राम के दौरान एक न्यूज़ चैनल रिपोर्टर को थप्पड़ मार दिया था।

और अधिक पढ़े -: बजरंग पुनिया का जन्म, पत्नी, माता पिता, करियर

निर्भया केस पर बयान

इसके बाद आसाराम के एक बयान पर भी काफी दिनों तक हंगामा मचा था। दिल्ली के निर्भया केस में उन्होंने बयान दिया था की गलती किसी एक की नहीं है। इसका मतलब आसाराम आरोपियों का समर्थन कर रहे थे। तो लोगो ने उनको आड़े हाथ लिया और उनको आलोचना का सामना करना पड़ा था।

दिल्ली की लड़की और आसाराम

इसके बाद 2013 में आसाराम बापू पर बहुत ही गंभीर अपराध के तहत मामला दर्ज हुआ और इसी की वजह से उनके काले कारनामे सामने आने शुरू हो गए। दिल्ली की एक 16 साल की लड़की के साथ आसाराम ने बलात्कार किया ऐसा एक मामला दिल्ली पुलिस थाने में दर्ज हुआ। और पुलिस ने इसकी छानबीन शुरू कर दी। दर्ज पर्थ्मिक्ता के अनुसार आसाराम ने लड़की को जोधपुर से करीब बिस किलोमीटर दूर ले जाकर उसके साथ बलात्कार किया और इस कांड में उनके तो साथियो ने उनका साथ दिया था।

और अधिक पढ़े -: नेहा कक्कड़ का जीवन परिचय

आसाराम बापू

इसके बाद पुलिस ने इनको गिरप्तार कर लिया और इनके खिलाफ जाँच शुरू हो गई। इसके बाद आसाराम ने कई बार जमानत के लिए याचिका दर्ज की थी लेकिन कोर्ट ने उनकी याचिका को ख़ारिज कर दिया था। और उनको सजा हो गई उम्र कैद की अभी भी वो जेल की रोटियां खा रहे है। वही पर हमारे भारत देश के वकील महान है। और सच को झूट बनाने के लिए अपना इमान तक बेच देते है। एक बलात्कारी को बचाने के लिए कुछ भी कर देते है।

और अधिक पढ़े -: (कारगिल गर्ल) गुंजन सक्सेना की बायोग्राफी

वकील जेठमलानी

भारत के मशहूर वकील रामजेठमलानी को मलाई खाने की आदत जो हो चुकी है। उन्होंने आसाराम को बचाने के लिए कोर्ट में ये दलील दी की वो लड़की बालिग है और मानसिक रूप से ठीक नहीं है। और उससे ये मामला जबरदस्ती दर्ज करवाया गया है। मेरे मुव्वकिल को जबरदस्ती फसाया जा रहा है। कोई माँ बाप अपने परिवार की इज्जत को क्यों उछालेगा।

ऐसी सोच के वकील भी देश में मौजूद है। लेकिन कोर्ट ने उनकी एक नहीं मानी और आसाराम की जमानत याचिका को ख़ारिज कर दिया और उनको उम्र कैद की सजा मिली। इस मामले में आसाराम के चाहने वालो ने भी उनका साथ दिया था। एक चश्मदीद गवाह कृपाल सिंह की रहसयमयी परिस्तिथियों में मौत हो गई। ऐसा कैसे हो सकता है। जो व्यक्ति इम्पोर्टेन्ट है वो ऐसे थोड़ी न खुद मर जायेगा। अब आप इतने समझदार तो है ही की हम क्या कह रहे ये समझ गए होंगे।

और अधिक पढ़े -: तेनाली राम के किस्से कहानिया और जीवन परिचय

कैसे बना आसाराम करोडो की सम्पति का मालिक

  • भारत देश में सिर्फ दो ही प्रकार के लोगो के पास पैसा होता है।
  • एक बाबा लोगो के पास और एक राजनेताओ के पास।
  • और आसाराम के पास इतने अधिक फंडिंग आती है।
  • की इससे उसने हर जगह अपनीं पकड़ मजबूत बना ली थी।
  • पैसे की ताकत के आगे सब कुछ फ़ैल हो जाता है।
  • ये तो आप जानते है। आसाराम जब पॉपुलर हुआ तो उनके भक्तो की संख्या इतनी ज्यादा हो गई थी।
  • की उन्होंने बाबा को चढ़ावे के रूप में बहुत जायदा धन दौलत दिया।
  • लेकिन इन बेचारे भक्तो को थोड़ी न पता था
  • की उनके पैसे का इस्तेमाल उनकी बहन बेटियों के इज्जत के साथ खिलवाड़ में होगा।
  • आज भी आसाराम के पास करोडो की धन सम्पति है।

और अधिक पढ़े -: सुल्ताना डाकू का हैरान करने वाला इतिहास

आसाराम बापू की कहानी

  • भले ही आसाराम जेल में है लेकिन उनकी आने वाली सभी पीढ़ियों को कमाने की जरुरत नहीं है।
  • कहने के लिए ये सम्पति भले ही ट्रस्ट के नाम है
  • लेकिन इसका कण्ट्रोल तो आसाराम परिवार के पास ही है।
  • देश विदेश से हर साल इतनी फंडिंग होती है।
  • वैसे आसाराम के ट्रस्ट अच्छे काम भी करते है।
  • जैसे लोगो की हेल्प करना , स्कूल कॉलेज की फंडिंग , गरीब लड़कियों का विवाह आदि
  • लेकिन जो आसाराम ने किया वो सही नहीं था।
  • आसाराम ने देश विदेश में भारत देश का नाम ख़राब किया है।
  • भारत की जनता की धार्मिक भावना के साथ खिलवाड़ किया है।
  • ऐसे इंसान की जगह जेल ही है।

निष्कर्ष
इस पोस्ट में हमने बाबा आसाराम के बारे में आपको पूरी जानकारी दी है।

अगर आपको इस जानकारी से कोई आपत्ति है तो हमें ईमेल कर सकते है।

या फिर कमेंट बॉक्स में कमेंट करके भी संपर्क कर सकते है।

निचे दी गई कुछ जानकारी हमारी निजी राय है।

अगर जानकारी गलत है तो आप हमें बता सकते है।

हम उसको सही कर देंगे तुरंत ही। और पोस्ट पसंद आई है

तो इसको दोस्तों के साथ फेसबुक पर शेयर जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.